upsc chemistry optional syllabus latest

परिचय(Introduction) :

क्या आप UPSC परीक्षा के लिए चेमिस्ट्री को अपना वैकल्पिक विषय चुनने की सोच रहे हैं? रसायन विज्ञान की दुनिया में रसायनों, प्रतिक्रियाओं, और संरचनाओं के रोचक संसार में खोजना आपके लिए एक रोमांचक यात्रा साबित हो सकता है! आइए, इस वैकल्पिक विषय के माध्यम से UPSC Chemistry Optional Syllabus के परिप्रेक्ष्य में गहराई से जानते हैं।

UPSC Chemistry Optional Syllabus को अपने वैकल्पिक विषय के रूप में क्यों चुनें?

UPSC के वैकल्पिक विषय के रूप में रसायन विज्ञान का चयन कई कारणों पर निर्भर करता है। यहां कुछ मुख्य कारण हैं जो इसे चुनने के लिए प्रेरित कर सकते हैं:

  1. प्रतिस्पर्धी परीक्षा में अच्छे अंकों की गारंटी: चेमिस्ट्री के वैकल्पिक रूप से चयन से, परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करने की संभावना बढ़ जाती है।

  2. व्यापक सिलेबस: रसायन विज्ञान का सिलेबस व्यापक होता है और विभिन्न क्षेत्रों में गहरी समझ प्रदान करता है, जैसे कि अणु विज्ञान, अवक्षीकरण, रसायनी संतुलन और ऊष्मागतिकी।

  3. साइंस और तकनीकी विकास: रसायन विज्ञान वैज्ञानिक सोच, समस्या-समाधान क्षमता और तकनीकी विकास को प्रोत्साहित करता है, जो कई अन्य क्षेत्रों में भी लाभदायक हो सकता है।

  4. करियर विकल्प: रसायन विज्ञान का अध्ययन करने के बाद, आप अनेक करियर विकल्पों के लिए तैयार हो सकते हैं, जैसे कि रिसर्च, फार्मा, उद्योग, और शिक्षण।

  5. चुनौतीपूर्णता और रोमांच: रसायन विज्ञान के अध्ययन में चुनौतियों और खोज के अनुभव से जुड़ने का अवसर मिलता है, जो रोमांचक और उत्साहजनक होता है।

इन सभी कारणों से, चेमिस्ट्री UPSC के लिए एक रोमांचक और सामान्य वैकल्पिक विषय हो सकता है, जो आपको व्यापक ज्ञान, करियर विकल्प, और प्रतिस्पर्धी परीक्षाओं में उत्तरदायित्वपूर्ण अंक दिला सकता है।

upsc agriculture optional syllabus को समझना

UPSC के रसायन विज्ञान के वैकल्पिक सिलेबस में दो पेपर होते हैं:

पेपर 1:

  1. परमाणु संरचना और बाइंडिंग
  2. रासायनिक आवर्तता
  3. समन्वय यौगिक
  4. रासायनिक संतुलन और ऊष्मागतिकी
  5. प्रतिक्रिया मेकेनिज्म
  6. संगणकीय, भौतिक, और अविभाज्य रसायन विज्ञान

पेपर 2:

  1. तत्वों की रसायन और समन्वय रसायन
  2. जैव रसायन विज्ञान में उन्नत विषय
  3. रासायनिक विश्लेषण और स्पेक्ट्रोस्कोपी
  4. भौतिक रसायन: जीवन विज्ञान में सिद्धांत और अनुप्रयोग
  5. पर्यावरणीय रसायन

तैयारी रणनीतियाँ(Preparation Strategies) :

  1. समझ और अध्ययन: पाठ्यक्रम में उल्लिखित हर विषय को कवर करने वाली मानक पाठ्यपुस्तकों से शुरू करें। P. बहादुर की “भौतिक रसायन” और मोरिसन और बॉयड की “जैव रसायन” इसमें अत्यधिक सिफारिश की जाती है।

  2. संदर्भ और समझ: रसायन विज्ञान विभिन्न वैज्ञानिक सिद्धांतों को समझने को शामिल करता है। सिद्धांतों, प्रतिक्रिया मेकेनिज्म, और सिद्धांतों के अनुप्रयोग पर ध्यान केंद्रित करें।

  3. समस्या-समाधान का प्रैक्टिस: नियमित रूप से संख्यात्मक समस्याओं को हल करें और रासायनिक समीकरणों का अभ्यास करें।

  4. आरेख और सूत्र: रसायन में सूत्र, समीकरण और आरेखों की आवश्यकता होती है। इन आरेखों को बनाने और समझने का अभ्यास करें।

  5. पिछले वर्षों के पेपर्स: पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करने से परीक्षा का पैटर्न और पूछे गए प्रश्नों को समझा जा सकता है।

  6. सहायक सामग्री: अकादमिक जर्नल्स, शोध पत्रिकाएं, और सहायक अध्ययन सामग्री का संदर्भ लें।

UPSC Chemistry Optional Syllabus books in hindi medium

चेमिस्ट्री, UPSC में वैकल्पिक विषय के रूप में, रसायनिक प्रक्रियाओं, संरचनाओं, और उनके अनुप्रयोगों की गहरी समझ प्रदान करती है। एक ध्यान से भरपूर दृष्टिकोण, सतत प्रयास, और सिलेबस की स्पष्ट समझ के साथ, आप इस वैकल्पिक विषय में उत्कृष्टता प्राप्त कर सकते हैं।

ध्यान रखें, की चेमिस्ट्री के मौलिक सिद्धांतों को समझना, व्यापक अभ्यास करना, और अपने उत्तरों को प्रभावी ढंग से प्रस्तुत करना है। चेमिस्ट्री के इस रोमांचक संसार की खोज में रोमांचित हो और UPSC परीक्षा को पार करने के लिए तैयार हो जाएं। इस संघर्षमय प्रयास पर शुभकामनाएं!

UPSC Chemistry Optional Syllabus books in English medium

Certainly! Here are some recommended books for UPSC Chemistry Optional in English:

Paper 1:

  1. “Physical Chemistry” by P. Bahadur
  2. “Organic Chemistry” by Morrison and Boyd
  3. “Inorganic Chemistry” by J.D. Lee
  4. “Reaction Mechanism in Organic Chemistry” by Parmar Chawla
  5. “Chemical Kinetics” by Keith J. Laidler

Paper 2:

  1. “Chemistry of Natural Products” by O.P. Agarwal
  2. “Chemical Analysis” by Vogel’s
  3. “Spectroscopy” by Pavia, Lampman, Kriz, and Vyvyan
  4. “Environmental Chemistry” by A.K. De
  5. “Bioinorganic Chemistry” by Bertini, Gray, Lippard, and Valentine

These books cover various topics mentioned in the UPSC Chemistry Optional syllabus for both Paper 1 and Paper 2. They provide comprehensive knowledge and understanding required for the examination preparation. Don’t forget to supplement your studies with previous years’ question papers and practice tests for better preparation.

निष्कर्ष(Conclusion):

UPSC Chemistry Optional Syllabus के रूप में, रसायनिक प्रक्रियाओं, संरचनाओं, और उनके अनुप्रयोगों की गहरी समझ प्रदान करती है। एक ध्यान से भरपूर दृष्टिकोण, सतत प्रयास, और सिलेबस की स्पष्ट समझ के साथ, आप इस वैकल्पिक विषय में उत्कृष्टता प्राप्त कर सकते हैं।

ध्यान रखें, की चेमिस्ट्री के मौलिक सिद्धांतों को समझना, व्यापक अभ्यास करना, और अपने उत्तरों को प्रभावी ढंग से प्रस्तुत करना है। UPSC Chemistry Optional Syllabus के इस रोमांचक संसार की खोज में रोमांचित हो और UPSC परीक्षा को पार करने के लिए तैयार हो जाएं। इस संघर्षमय प्रयास पर शुभकामनाएं!

UPSC Chemistry Optional Syllabus in hindi PDF DOWNLOAD

UPSC Chemistry Optional Syllabus in ENGLISH PDF DOWNLOAD

OFFICIAL WEBSITE

Spread the love

Leave a Reply