upsc agriculture optional syllabus 2023 latest

परिचय(Introduction) :

क्या आप यूपीएससी (संघ लोक सेवा आयोग) परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और कृषि को अपना वैकल्पिक विषय मान रहे हैं? यदि हां, तो आप सही जगह पर हैं! इस ब्लॉग पोस्ट में, हम upsc agriculture optional syllabus की दुनिया में गहराई से उतरेंगे, इसके महत्व, तैयारी रणनीतियों और इसे आपके लिए कैसे काम में लाया जाए, इसकी खोज करेंगे।

कृषि को अपने वैकल्पिक विषय के रूप में क्यों चुनें?

इससे पहले कि हम कृषि वैकल्पिक के साथ यूपीएससी की तैयारी की बारीकियों पर गौर करें, आइए मूल प्रश्न पर ध्यान दें: कृषि को अपने वैकल्पिक विषय के रूप में क्यों चुनें?

व्यक्तिगत रुचि: यदि आपकी पृष्ठभूमि कृषि में है, ग्रामीण मुद्दों के प्रति आकर्षण है, या बस खेती और कृषि व्यवसाय के लिए जुनून है, तो कृषि एक फायदेमंद विकल्प हो सकता है।

स्कोरिंग क्षमता: अपेक्षाकृत अनुमानित पाठ्यक्रम और मूल्यांकन में सीमित व्यक्तिपरकता के साथ कृषि अपनी स्कोरिंग क्षमता के लिए जानी जाती है।

ओवरलैपिंग सिलेबस: यदि आप एक साथ अन्य जीएस (सामान्य अध्ययन) पेपर की तैयारी कर रहे हैं, तो कृषि चुनने से आपको भूगोल, अर्थशास्त्र और पर्यावरण जैसे विषयों में अपने ज्ञान का लाभ उठाने में मदद मिल सकती है।

संसाधनों की उपलब्धता: आपकी यूपीएससी कृषि वैकल्पिक तैयारी में सहायता के लिए पर्याप्त अध्ययन सामग्री, कोचिंग संस्थान और ऑनलाइन संसाधन उपलब्ध हैं।

अब जब हम समझ गए हैं कि कृषि एक व्यवहार्य विकल्प क्यों है, तो आइए देखें कि इस विषय में उत्कृष्टता कैसे हासिल की जाए।

upsc agriculture optional syllabus को समझना

यूपीएससी कृषि वैकल्पिक पाठ्यक्रम दो पेपरों में विभाजित है:
पेपर – I:
कृषिविज्ञान
फसल शरीर क्रिया विज्ञान
आनुवंशिकी और पादप प्रजनन
जैव रसायन और सूक्ष्म जीव विज्ञान
मृदा विज्ञान
कृषि अर्थशास्त्र
कृषि विस्तार

पेपर II:
प्लांट पैथोलॉजी
कीटविज्ञान
कृषि इंजीनियरिंग
पशुपालन एवं पशु चिकित्सा विज्ञान
मत्स्य विज्ञान
वानिकी
कृषि एवं मानवीय मूल्य
कृषि पारिस्थितिकी

तैयारी रणनीतियाँ(Preparation Strategies) :

व्यापक अध्ययन सामग्री: प्रत्येक विषय के लिए मानक पाठ्यपुस्तकें और संदर्भ सामग्री एकत्र करके शुरुआत करें। यूपीएससी-विशिष्ट अध्ययन सामग्री और पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का संदर्भ लेना सुनिश्चित करें।

स्पष्ट वैचारिक समझ: प्रत्येक विषय की मूल अवधारणाओं को समझकर एक मजबूत नींव बनाने पर ध्यान दें। रटने से बचें और वैचारिक स्पष्टता पर जोर दें।

नियमित पुनरीक्षण: आपने जो सीखा है उसे बरकरार रखने के लिए लगातार पुनरीक्षण महत्वपूर्ण है। एक पुनरीक्षण कार्यक्रम बनाएं और उस पर लगन से अमल करें।

पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों को हल करें: पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों का अभ्यास करने से आपको परीक्षा पैटर्न को समझने और महत्वपूर्ण विषयों की पहचान करने में मदद मिलेगी।

मॉक टेस्ट लें: नियमित मॉक टेस्ट देने के लिए किसी कोचिंग संस्थान से जुड़ें या ऑनलाइन टेस्ट श्रृंखला की सदस्यता लें। इससे आपको अपने प्रदर्शन का आकलन करने और अपने समय प्रबंधन कौशल में सुधार करने में मदद मिलेगी।

अपडेट रहें: कृषि में वर्तमान विकास, विशेष रूप से कृषि क्षेत्र से संबंधित सरकारी योजनाओं और नीतियों से अवगत रहें।

upsc agriculture optional books in hindi medium

UPSC Agriculture Optional के लिए हिंदी माध्यम में योग्य पुस्तकों और अध्ययन सामग्रियों की सही पुस्तकों और स्टडी सामग्रियों का होना महत्वपूर्ण है ताकि आप प्रभावी रूप से तैयारी कर सकें। यहां UPSC Agriculture Optional के लिए हिंदी माध्यम में सुझाई जाने वाली पुस्तकों की सूचना है:

  1. “कृषि एक्सटेंशन” (Agricultural Extension) – वी. आर. पुरी और वी. के. पुरी द्वारा – यह पुस्तक Paper I के Agricultural Extension भाग को विस्तार से कवर करती है।

  2. “कृषि अर्थशास्त्र” (Agricultural Economics) – ए. एम. शीला द्वारा – Paper I के Agricultural Economics भाग के लिए एक व्यापक पुस्तक है।

  3. “कृषि विज्ञान” (Agricultural Science) – डॉ. अनुज कुमार और डॉ. रवि रंजन कुमार द्वारा – यह पुस्तक कृषि के विभिन्न विषयों को व्यापक रूप से कवर करती है।

  4. “कृषि भूमि विज्ञान” (Soil Science) – डॉ. डी.के. दास द्वारा – यह पुस्तक Paper I के Soil Science भाग को कवर करती है।

  5. “कृषि अद्यातन एवं यातायात” (Agricultural Engineering and Transport) – आर. सी. प्रजापत द्वारा – यह पुस्तक Paper II के Agricultural Engineering भाग के लिए है।

  6. “कृषि आपदा एवं नियंत्रण” (Agricultural Disaster and Management) – ए.के. सिंह द्वारा – यह पुस्तक Paper II के लिए उपयोगी है।

  7. “कृषि मानव मूल्य” (Agriculture and Human Values) – के.एस. सिसोदिया द्वारा – यह पुस्तक Paper II के Agriculture and Human Values भाग को कवर करती है।

  8. “कृषि जीव विज्ञान” (Agricultural Microbiology) – जी.बी. सिंह द्वारा – यह पुस्तक कृषि में माइक्रोबायोलॉजी से संबंधित विषयों को कवर करती है, जो Paper I का हिस्सा है।

  9. “कृषि खनिज” (Agricultural Minerals) – डॉ. डी.एन. संसानवाल द्वारा – यह पुस्तक कृषि खनिजों को कवर करती है, जो Paper I का महत्वपूर्ण हिस्सा है।

  10. “कृषि नदियों एवं तटीय प्रबंधन” (Agricultural Rivers and Coastal Management) – डी.के. मिश्रा द्वारा – Paper II के लिए उपयोगी है।

कृपया ध्यान दें कि ये पुस्तकें UPSC Agriculture Optional के लिए हिंदी में सुझाई गई हैं, लेकिन यह सुनिश्चित करने के लिए महत्वपूर्ण है कि आप नवीनतम संस्करणों का संदर्भ लें और यह सुनिश्चित करें कि वे पूरे UPSC Agriculture Optional के पाठ्यक्रम को कवर करती हैं। इसके अलावा, आपकी पूरी और प्रभावी तैयारी के लिए हिंदी में UPSC विशेष अध्ययन सामग्री, मॉक टेस्ट, और पिछले साल के प्रश्न पत्रों का संदर्भ लेने का अवसर भी है।

upsc agriculture optional books in English medium

If you’re preparing for the UPSC (Union Public Service Commission) exam with Agriculture as your optional subject, it’s important to have the right books and study materials to help you succeed. Here is a list of recommended books for UPSC Agriculture Optional:

Paper I:

  1. Fundamentals of Agriculture Vol. I and II by Arun Katyayan: This book provides comprehensive coverage of various topics in agriculture and is highly recommended for Paper I.

  2. Agriculture at a Glance by R.K. Sharma: This book covers the important aspects of agriculture and is helpful for building a strong foundation in agronomy, soil science, and other related subjects.

  3. Introduction to Agriculture by Akhilesh Chandra Pandey: This book is suitable for beginners and provides a good introduction to agriculture-related topics.

  4. Principles of Agronomy by S.R. Reddy and G.H. Sankar: This book covers agronomy in detail and is a valuable resource for Paper I.

Paper II:

  1. Plant Pathology by George N. Agrios: This book is considered the bible of plant pathology and is highly recommended for Paper II.

  2. A Textbook of Entomology by A.K. Chakravarthy: This book covers the subject of entomology comprehensively and is a good resource for Paper II.

  3. Animal Husbandry and Veterinary Science by O.P. Gupta: This book provides a detailed overview of animal husbandry and veterinary science, which is part of Paper II.

  4. Introduction to Horticulture by N.K. Srinivasa and V. L. Chopra: This book is useful for the horticulture section in Paper II.

  5. Forestry at a Glance by Joginder Singh: For the forestry section, this book is a valuable resource.

In addition to these books, you should also consider referring to previous years’ question papers to understand the pattern of questions asked in the UPSC Agriculture Optional exam. Additionally, taking mock tests and joining a coaching institute, if possible, can further enhance your preparation.

Please note that while these books are commonly recommended, it’s essential to adapt your study materials and sources based on your specific strengths, weaknesses, and learning style. Good luck with your UPSC Agriculture Optional preparation!

निष्कर्ष(Conclusion):

अंत में, यूपीएससी के लिए कृषि को अपने वैकल्पिक विषय के रूप में चुनना एक बुद्धिमान निर्णय हो सकता है, बशर्ते आप वास्तव में विषय वस्तु में रुचि रखते हों। सही संसाधनों, समर्पण और रणनीतिक तैयारी के साथ, आप यूपीएससी परीक्षा पास कर सकते हैं और सिविल सेवा के क्षेत्र में अपनी पहचान बना सकते हैं।

याद रखें कि यूपीएससी कृषि वैकल्पिक में सफलता के लिए, किसी भी अन्य विषय की तरह, निरंतर प्रयास, अनुशासन और विषय वस्तु की गहरी समझ की आवश्यकता होती है। तो, अपनी कमर कस लें, ऊपर बताई गई रणनीतियों का पालन करें और एक सफल सिविल सेवक बनने की दिशा में अपनी यात्रा शुरू करें। आपको कामयाबी मिले!

upsc agriculture optional syllabus in hindi PDF DOWNLOAD

upsc agriculture optional syllabus in ENGLISH PDF DOWNLOAD

AGRICULTURE OPTIONAL QUESTION PAPER I & II -2022

OFFICIAL WEBSITE

Spread the love

Leave a Reply